सीएम योगी ने अफसरों को दिए कड़े निर्देश, कही ये बात, पढ़ें

सीएम योगी आदित्यनाथ पुलिस लाइन सभागार में आयोजित एक बैठक में पहुंचे। यहां कुछ नेताओं द्वारा अफसरों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अफसर पहले अपनी दलाली बंद करे, अफसरों को हम सुधार देंगे।

सीएम योगी तेवर देखकर एक पल के लिए वहां सन्नाटा छा गया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां प्रभारी मंत्री, सांसद, विधायक, एमएलसी, जिलाध्यक्ष का कोर ग्रुप बनाया। पदाधिकारी और कार्यकर्ता अपनी शिकायतें कोर ग्रुप के माध्यम से उन तक पहुंचाए। शिकायतों का निराकरण उनके माध्यम से कराया जाएगा।

इस बीच बंद सभागार में तकरीबन आधा घंटे तक बैठक चली इस बीच बैठक में नेताओं और कार्यकर्ताओं को अनुशासित होकर काम करने की नसीहत दी। बैठक में पार्टी के नेताओं ने कहा कि अफसरों के भ्रष्टाचार ने पार्टी की साख को खराब करके रख दिया है। जनता से जुड़े विभागों के अधिकारी लगातार वसूली कर रहे हैं। इस बीच बढ़ते अपराध को लेकर भी सीएम के सामने अपनी पीड़ा को रखा गया। मौजूद नगर पालिकाध्यक्ष ने शहर के विकास कार्यों में सामने आ रही दिक्कतों को उठाया। उनके द्वारा आरोप लगाया गया कि अधिशासी अधिकारी सहयोग नहीं कर रहे हैं। जिसको लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि वह खुद इस मामले को देखेंगे।

सीएम ने कहा कि भारत का नौजवान जो तोप लेकर सीमा पर जाकर उसका निर्माण बुंदेलखंड की धरती पर होगा। इस बीच हर घर जल योजना के तहत दिसंबर माह तक बुंदेलखंड के हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने का प्रयास होगा। इस बीच सीएम योगी संत मोरारी बापू की रामकथा में समापन पर भी पहुंचेंगे।