तीसरी लहर से लड़ने को यूपी में घर-घर होगी स्क्रीनिंग, सीएम योगी ने दिया आदेश, पढ़ें

कोरोना संक्रमण के प्रसार को काबू करने के लिए यूपी की योगी सरकार एक बार फिर प्रदेशव्यापी स्क्रीनिंग अभियान शुरू करने जा रही है। अभियान के तहत 24 से 29 जनवरी के बीच स्वास्थ्यकर्मी, निगरानी समिति के सदस्य घर-घर दस्तक देंगे और सभी की सेहत का हालचाल लेंगे। कोविड के संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों की आरआरटी के माध्यम से टेस्टिंग होगी तो सभी को दवाइयों का मुफ्त पैकेट भी दिया जाएगा।

बुधवार को टीम-9 की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ की ओर से प्रदेशव्यापी स्क्रीनिंग अभियान को लेकर निर्देश मिलते ही तैयारियां शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना प्रसार को नियंत्रण में रखने के लिए ट्रेसिंग का महत्वपूर्ण योगदान है।

अपनी निगरानी समितियों के सहयोग से हमने पिछली लहर में घर-घर स्क्रीनिंग का कार्य किया। इससे कोविड नियंत्रण में सहायता मिली। इस बार भी ऐसे ही प्रयास की जरूरत है। अतः प्रदेशव्यापी सर्विलांस कार्यक्रम चलाया जाए।

इस कार्यक्रम में निगरानी समितियां/स्वास्थ्यकर्मी घर-घर पहुंचें। लक्षणयुक्त लोगों की पहचान करें। जरूरत के अनुसार टेस्ट कराएं और हर संदिग्ध मरीज को मेडिकल किट उपलब्ध कराएं। वैक्सीन नहीं लेने वाले लोगों की सूची भी तैयार की जाएगी, ताकि कोई भी बिना टीकाकवर के न रहे। इस विशेष अभियान के लिए स्वास्थ्यकर्मियों का प्रशिक्षण शुरू हो गया है। अभियान गांवों और शहरी वार्डों में एक साथ शुरू होगा।