सीएम योगी ने दी राहत, राशन कार्ड ना होने पर भी मिलेगा भर पेट खाना,पढ़ें

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना देखते हुए निराश्रित, अकेले रहने वाले बुजुर्गों, दिव्यांगजनों पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है। सीएम ने कहा कि ऐसे व्यक्ति यदि संक्रमित होते हैं तो उनके साथ अतिरिक्त संवेदनशीलता का भाव रखा जाए। इसके अलावा जिनके पास राशन कार्ड नही है उन्हें सीएम ने बड़ी राहत दी है।

 मुख्यमंत्री ने रविवार को टीम-9 के अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि राज्य सरकार 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दे रही है, लेकिन यदि किसी के पास राशन कार्ड भी नहीं है तो उसे दोनों समय फूड पैकेट उपलब्ध कराया जाए। कोविड के पिछले अनुभवों के आधार पर सामुदायिक भोजनालयों को फिर से शुरू कराया जाए। कोरोना के लक्षण दिखने वालों को होम आइसोलेशन में रख इलाज किया जाए। को-मॉर्बिड मरीजों, बुजुर्गों और बच्चों को संक्रमण से बचाने पर विशेष ध्यान दिया जाए, यदि वे संक्रमित हों तो उनके इलाज की प्रक्रिया की सतत मॉनीटरिंग हो।

उन्हें तत्काल मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए। निगरानी समितियां घर-घर संपर्क कर बिना टीकाकरण वाले लोगों की सूची जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएं, ताकि उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया जा सके।

मुख्यमंत्री को बताया गया कि प्रदेश के 24 घंटों में 2 लाख 22 हजार 974 जांच में 7695 नए कोरोना पॉजिविट पाए गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। मास्क के प्रयोग, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजेशन आदि से इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। निगरानी समितियां और इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर्स को पूर्णतः सक्रिय किया जाए। होम आइसोलेशन, निगरानी समितियों से संवाद, एंबुलेंस की जरूरत और टेलिकंसल्टेशन के लिए नंबर जारी किए जाएं। जरूरत के मुताबिक लोगों को मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए।