अब गांव और शहर को मिलेंगे 24 घंटे बिजली, सीएम ने कही ये बात, पढ़ें

गति और शक्ति एक दूसरे के प्रतीक हैं। पीएम गति शक्ति इंफ्रास्टक्चर डेवलपमेंट को बढ़ाने के लिए बड़ा माध्यम बन रहा है। अभी तक जो भी इंफ्रास्टक्चर डेवलपमेंट का काम होता था वह कछुए की गति से ही चल पाता था। लेकिन यूपी सरकार ने कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बावजूद विकास के कार्यों को रुकने नहीं दिया।

 पीएम गति शक्ति के माध्यम से ही पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को विषम परिस्थितियों के बावजूद रिकार्ड समय में बनाने में सफलता मिली। हमारी सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को भी दिसम्बर तक चालू करने जा रही है। लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर कार्यक्रम के जोनल कांफ्रेस (नार्थ) में इन बातों की जानकारी दी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम गति शक्ति प्लेटफार्म को मजबूत करने के लिए प्रदेश सरकार ने पहले चरण में 16 विभाग और एजेंसियों की परियोजनाओं का एकीकरण किया जा चुका है। द्वतीय चरण में 11 विभाग और एजेंसियों को एकीकृत करने के लिए गति शक्ति पोर्टल पर चिन्हित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि किसी भी प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाने के लिए कानून व्यवस्था सबसे बड़ा माध्यम होता है। हमारी सरकार ने 2017 के बाद मजबूत कानून व्यवस्था के साथ-साथ अलग-अलग सेक्टर में निवेश के लिए अच्छी प्रणाली लागू की जिसके बेहतर परिणाम आए हैं। हमारा प्रदेश 2015-17 में इज आफ डुइंग बिजनेस में 14वें स्थान पर था आज वह इसमें दूसरे नम्बर पर पहुंच गया है।